Recent Publications

  • संस्कृत साहित्य रत्नावली (भाग-1)

    • Author:विष्णु प्रभाकर
    • Subject:नई पुस्तक
    • Language:हिंदी
    • Date:2017
    • Binding Type:Paper Binding
    • Price:55

    संस्कृत साहित्य रत्नावली (भाग-1) में कविकुल शिरोमणि कालिदास के नाटकों का सुंदर एवं सुपाठ्य कथासार हिंदी में प्रस्तुत है। मूलतः इन कथासारों का संचयन/संपादन हिंदी के सुप्रसिद्ध कथाकार-नाटककार विष्णु प्रभाकर द्वारा किया गया था। अतः वर्तमान स्वरूप में इसे प्रस्तुत करते हुए प्रकाशक युग्म विष्णु प्रभाकर जी का ऋणी है।

  • संस्कृत साहित्य रत्नावली (भाग-2)

    • Author:विष्णु प्रभाकर
    • Subject:नई पुस्तक
    • Language:हिंदी
    • Date:2017
    • Binding Type:Paper Binding
    • Price:55

    संस्कृत साहित्य रत्नावली (भाग-2) में कविकुल शिरोमणि काव्य-ग्रंथों का सुंदर एवं सुपाठ्य कथासार हिंदी में प्रस्तुत है। मूलतः इन कथासारों का संचयन/संपादन हिंदी के सुप्रसिद्ध कथाकार-नाटककार विष्णु प्रभाकर द्वारा किया गया था। अतः वर्तमान स्वरूप में इसे प्रस्तुत करते हुए प्रकाशक युग्म विष्णु प्रभाकर जी का ऋणी है।

  • संस्कृत साहित्य रत्नावली (भाग-3)

    • Author:विष्णु प्रभाकर
    • Subject:नई पुस्तक
    • Language:हिंदी
    • Date:2017
    • Binding Type:Paper Binding
    • Price:50

    संस्कृत साहित्य रत्नावली' (भाग-3) में भवभूति के तीन नाटकों का सुंदर एवं सुपाठ्य कथासार हिंदी में प्रस्तुत है। मूलतः इन कथासारों का संचयन/संपादन हिंदी के सुप्रसिद्ध कथाकार-नाटककार विष्णु प्रभाकर द्वारा किया गया था। अतः वर्तमान स्वरूप में इसे प्रस्तुत करते हुए प्रकाशक युग्म विष्णु प्रभाकर जी का ऋणी है।

  • संस्कृत साहित्य रत्नावली (भाग-4)

    • Author:विष्णु प्रभाकर
    • Subject:नई पुस्तक
    • Language:हिंदी
    • Date:2017
    • Binding Type:Paper Binding
    • Price:70

    संस्कृत साहित्य रत्नावली' (भाग-4) में भास के नाटकों का सुंदर एवं सुपाठ्य कथासार हिंदी में प्रस्तुत है। मूलतः इन कथासारों का संचयन/संपादन हिंदी के सुप्रसिद्ध कथाकार-नाटककार विष्णु प्रभाकर द्वारा किया गया था। अतः वर्तमान स्वरूप में इसे प्रस्तुत करते हुए प्रकाशक युग्म विष्णु प्रभाकर जी का ऋणी है।

  • काशी नगरी एक: रूप अनेक

    • Author:डॉ. ओ.पी. केजरीवाल
    • Subject:नई पुस्तक
    • Language:हिंदी
    • Date:2017
    • Binding Type:Paper Binding
    • Price:330

    भारत की प्राचीनतम एवं पवित्र नगरी काशी कला, संस्कृति, साहित्य, संगीत एवं साधना की केंद्रस्थली के रूप में पूरे विश्व में विख्यात है। बौद्ध तथा जैन ग्रंथों में भी इसका उल्लेख मिलता है। काशी के नाम के साथ विद्या की महान परंपराएं जुड़ी हुई हैं। इस ग्रंथ में काशी की विभिन्न परंपराओं को संकलित किया गया है। डॉ. ओ.पी. केजरीवाल ने इस पुस्तक में काशी के विभिन्न पक्षों के अध्येता और विद्धानों के लेखों का संचयन इस प्रकार किया है कि इस ऐतिहासिक नगर के विविध आयामों की सम्यक जानकारी पाठकों को मिल सके।

  • ग़ालिबः कवि और मानव

    • Author:अर्श मलसियानी
    • Subject:नई पुस्तक
    • Language:हिंदी
    • Date:2017
    • Binding Type:Paper Binding
    • Price:105

    ग़ालिब अपने ही वातावरण की देन थे। उन पर अपने आस-पास के प्रभाव पड़े थे। संस्कृति और मर्यादा के विरुद्ध चलना कोई आसान काम नहीं था लेकिन वह दोरंगी से बहुत दूर रहने वाले व्यक्ति थे। वह जो कुछ सोचते थे छिपाते नहीं थे बल्कि उसे स्प्ष्ट कह देते थे। उनकी शायरी की सबसे बड़ी विशेषता यही है कि उन्होंने जो कुछ सोचा उसे बिना किसी झिझक के कह दिया। उनके सोचने का ढंग भावुक नहीं बौद्धिक था। ग़ालिब केवल उर्दू और फ़ारसी के मशहूर शायर नहीं थे। वह एक बड़े साहित्यकार भी थे। उन्होंने अपनी शायरी, पत्रों और साहित्यिक लेखों द्वारा साहित्य-जगत में अपना विशेष स्थान बनाया। उर्दू के जाने-माने शायर और प्रस्तुत पुस्तक के लेखक अर्श मलसियानी ने इस पुस्तक में ग़ालिब के संपूर्ण व्यक्तित्व और कृतित्व का वर्णन बड़े ही सरल और सुंदर शब्दों में किया है।

  • काका और चाची

    • Author:हरदर्शन सहगल
    • Subject:नई पुस्तक
    • Language:हिंदी
    • Date:2017
    • Binding Type:Paper Binding
    • Price:95

    कहानी केवल मनोरंजन का विषय नहीं होती है। कहानी व्यक्तिगत विकास और मानवीय संबंधों को अपने में समेटे रहती है। काका और चाची पंद्रह बाल एवं किशोर वर्ग की कहानियों का संग्रह है। बाल मनोविज्ञान पर आधारित प्रत्येक कहानी मनोरंजन के साथ-साथ शिक्षाप्रद संदेश भी देती है। प्रस्तुत पुस्तक के लेखक हरदर्शन सहगल हैं जिनका बाल साहित्य में विशेष स्थान है। रोचक और सरस शैली में लिखी गई इन कहानियों को बच्चे एवं बड़े बार-बार पढ़ना चाहेंगे।

  • संगीत मन को पंख लगाए

    • Author:नंद किशोर नंदन
    • Subject:नई पुस्तक
    • Language:हिंदी
    • Date:2017
    • Binding Type:Paper Binding
    • Price:

    अपनी नैसर्गिक प्रतिभा से संगीत जगत में अपना लोहा मनवाने वाले गायक मन्ना डे का जीवन काफी संघर्षपूर्ण रहा है। प्रबोध चन्द्र डे से मन्ना डे बनने तक के सफर में उनकी माँ का भूमिका निर्णायक रही। इसके अतिरिक्त किसने उनका उत्साहवर्धन किया तथा कौन उनके प्रेरणा पुंज बने और मार्गदर्शन किया इन सबका विस्तृत एवं रोचक वर्णन इन पुस्तक में किया गया है। हिन्दी सिनेमा एवं शास्त्रीय संगीत जगत के आरम्भिक संगीत गुरुओं तथा वर्तमान समय में प्रचलित परंपराओं एवं संगीत की गिरती गुणवत्ता को लेखक नंद किशोर नंदन ने मन्ना डे के नजरिये से पेश किया है। अंत में कुछ श्रेष्ठतम गीतों की स्वरलिपियां दी गई हैं जो नए संगीत साधकों के लिए उपयोगी हो सकती हैं।

  • भारत के गौरव (भाग III)

    • Author: प्रकाशन विभाग
    • Subject:नई पुस्तक
    • Language:हिंदी
    • Date:2017
    • Binding Type:Paper Binding
    • Price:210

    भारत का इतिहास महान विभूतियों की सुदीर्घ परंपरा का गवाह रहा है। इन महापुरुषों के जीवन ने हमें साहस, बुद्धिमत्ता और समर्पण से असाधारण मानव बनने की राह दिखाई है। भारत के गौरव नामक यह पुस्तक श्रृंखला ऐसे महान पुरुषों एवं महिलाओं की जीवनियों का संग्रह है जिन्होंने करुणा, उत्साह, कुशाग्र बुद्धि और मातृभूमि से प्रेम के अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किए। उनकी बहादुरी, मानवीयता, ओजस्विता और सादगी यह विश्वास जगाती है कि हमारे अंदर निहित क्षमताओं का यदि सम्यक उपयोग किया जाए तो आने वाली पीढ़ियों को भरपूर प्रेरणा मिलेगी और उनका मार्गदर्शन होगा।